Ruke toh Chaand

Ruke toh Chaand,
Chale toh Hawaon jaise hai,
Wo Shaks,
Dhoop mein dekho toh
Chhaaon jaise hai!

Kyu karte ho

क्यूँ करते हो मुझसे
इतनी ख़ामोश मुहब्बत..
लोग समझते है
इस बदनसीब का कोई नहीँ..

Zaroori Kaam hai lekin

ज़रूरी काम है लेकिन रोज़ाना भूल जाता हूँ,
मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूँ,
तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है,
मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूँ,
बस इतनी बात पर मैं लोगों को अच्छा नहीं लगता,
मैं नेकी कर तो देता हूँ, जताना भूल जाता हूँ|

Zaroori Kaam hai lekin Rozana Bhul jata hu,
Mujhey tum se Mohabbat hai batana Bhul jata hu,
Teri Galion Mein Phirna itna accha Lagta hai,
Mein Rasta Yad Rakhta hun thikana Bhul jata hu,
Bas itni baat per main Logon ko accha nahi lagta,
Mein neki kar tu deta hun Jatana Bhul jata hu.

Ek shaam aati hai

एक शाम आती है तुम्हारी याद लेकर,
एक शाम जाती है तुम्हारी याद देकर,
पर मुझे तो उस शाम का इंतेज़ार है,
जो आए तुम्हे अपने साथ लेकर..!!

Ek shaam aati hai tumhari yaad lekar,
Ek shaam jaati hai tumhari yaad dekar,
Par hume intezaar hai us shaam ka,
Jo aaye sirf tumhe saath lekar..!!

Source: nausad4usang

Post Tagged with